बिहार जैविक खेती प्रोत्साहन योजना गोबर गैस वर्मी कम्पोस्ट जैव उर्वरक कम्पोस्ट उत्पादन Bihar Bio Agriculture Yojana Jaivik Kheti Protsahan Yojana

Benefits Of Jaivik Kheti Protsahan Yojana – जैविक खेती प्रोत्साहन राशी

The Bihar State government has planned to promote bio agriculture in state. Here are the benefits of Bihar Jaivik Kheti Protsahan Yojana.

राज्य में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए इस योजना की शुरुआत की गयी है | इस योजना के निम्नांकित प्रावधान हैं |

कर्यमद अनुदान अनुदान की पात्रता
किसान द्वारा वेर्मी कम्पोस्ट उत्पादन की पक्का इकाई लगत का 50 प्रतिशत अधिकतम 15000 रूपए किसान सुविधानुसार न्यूनतम एक इकाई एवं अधिकतम 5 इकाई के लिए अनुदान का लाभ ले सकते हैं | एक इकाई के लिए अधिकतम 3000 रुपये एवं 5 इकाई के लिए अधिकतम 15000 रूपए अनुदान देय है | सभी प्रकार के किसान योजना का लाभ ले सकते हैं|
गोबर गैस इकाई लागत का 50 प्रतिशत अधिकतम 19000 रूपए अनुदान देय हैं सभी प्रकार के किसान योजना का लाभ ले सकते हैं|
वेरमो कम्पोस्ट खरीद कर उपयोग लागत का 50 प्रतिशत अधिकतम 300 रूपए प्रति क्विंटल सभी प्रकार के किसान योजना का लाभ ले सकते हैं|
जैव उर्वरक यथा रिज़ोबियम का व्यव्हार लागत का 50 प्रतिशत अधिकतम 19000 रूपए प्रति हेक्टेयर सभी प्रकार के किसान योजना का लाभ ले सकते हैं|
वेर्मी कम्पोस्ट का व्यावसायिक उत्पादन प्रति वर्ष न्यूनतम 1000 में० टन, 2000 में० टन एवं 3000 में० टन उत्पादन के लिए लगत का 40 प्रतिशत अधिकतम क्रमश: 6.40 लाख , 12.80 लाख एवं 20 लाख रूपए अनुदान 5 वर्षों में 5 किस्तों में देय है | Individual / Co-operative ? proprietary firm / companies / Farmer interest groups / Self help group-NGO
जैव उर्वरक का व्यावसायिक उत्पादन लगत का 40 प्रतिशत अधिकतम 64.00 लाख रुपए |

अधिक जानकारी के लिए इसन भाई बहन अपने जिला कृषि पदाधिकारी / परियोजना निदेशक (आत्मा) सहायक निदेशक, उद्यान / प्रखंड कृषि पदाधिकारी / कृषि समन्वयक से संपर्क करें |